संक्षिप्त वाल्मीकि रामायण – 99 (Valmiki Ramayana in Hindi)

वाल्मीकि रामायण (Valmiki Ramayana) महर्षि वाल्मीकि (Maharshi Valmiki) रचित महाकाव्य है जिसमें भगवान विष्णु के अवतार श्री राम की कथा वर्णित है। वाल्मीकि रामायण (Valmiki Ramayana) को आदिकाव्य माना जाता है तथा इसे रामायण (Ramayana in Hindi) के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ पर ...

संक्षिप्त वाल्मीकि रामायण – 98 (Valmiki Ramayana in Hindi)

वाल्मीकि रामायण (Valmiki Ramayana) महर्षि वाल्मीकि (Maharshi Valmiki) रचित महाकाव्य है जिसमें भगवान विष्णु के अवतार श्री राम की कथा वर्णित है। वाल्मीकि रामायण (Valmiki Ramayana) को आदिकाव्य माना जाता है तथा इसे रामायण (Ramayana in Hindi) के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ पर ...

संक्षिप्त वाल्मीकि रामायण – 97 (Valmiki Ramayana in Hindi)

वाल्मीकि रामायण (Valmiki Ramayana) महर्षि वाल्मीकि (Maharshi Valmiki) रचित महाकाव्य है जिसमें भगवान विष्णु के अवतार श्री राम की कथा वर्णित है। वाल्मीकि रामायण (Valmiki Ramayana) को आदिकाव्य माना जाता है तथा इसे रामायण (Ramayana in Hindi) के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ पर ...

संक्षिप्त वाल्मीकि रामायण – 96 (Valmiki Ramayana in Hindi)

वाल्मीकि रामायण (Valmiki Ramayana) महर्षि वाल्मीकि (Maharshi Valmiki) रचित महाकाव्य है जिसमें भगवान विष्णु के अवतार श्री राम की कथा वर्णित है। वाल्मीकि रामायण (Valmiki Ramayana) को आदिकाव्य माना जाता है तथा इसे रामायण (Ramayana in Hindi) के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ पर ...

गोदान – 52 (Godan – Hindi Novel by Premchand)

मुंशी प्रेमचंद (Munshi Premchand) का कालजयी उपन्यास - गोदान (Godan) ओंकारनाथ सैर करके लौटे थे और आज के पत्र के लिए संपादकीय लेख लिखने की चिंता में बैठे हुए थे, पर मन पक्षी की भाँति उड़ा-उड़ा फिरता था। उनकी धर्मपत्नी ने रात उन्हें कुछ ऐसी बातें ...

गोदान – 51 (Godan – Hindi Novel by Premchand)

मुंशी प्रेमचंद (Munshi Premchand) का कालजयी उपन्यास - गोदान (Godan) रायसाहब को खबर मिली कि इलाके में एक वारदात हो गई है और होरी से गाँव के पंचों ने जुरमाना वसूल कर लिया है, तो फौरन नोखेराम को बुला कर जवाब-तलब किया - क्यों उन्हें इसकी ...

गोदान – 50 (Godan – Hindi Novel by Premchand)

मुंशी प्रेमचंद (Munshi Premchand) का कालजयी उपन्यास - गोदान (Godan) एक क्षण बाद मेहता ने पूछा, 'मैंने सुना है, खन्ना साहब अपनी बीबी को मारा करते हैं। तब से मुझे इनकी सूरत से नफरत हो गई। जो आदमी इतना निर्दयी हो, उसे मैं आदमी नहीं समझता। ...

गोदान – 49 (Godan – Hindi Novel by Premchand)

मुंशी प्रेमचंद (Munshi Premchand) का कालजयी उपन्यास - गोदान (Godan) रायसाहब ने मेहता को बधाई दी, 'आपने मेरे मन की बातें कहीं मिस्टर मेहता। मैं आपके एक-एक शब्द से सहमत हूँ।' मालती हँसी, 'आप क्यों न बधाई देंगे, चोर-चोर मौसेरे भाई जो होते हैं, मगर यहाँ सारा ...

गोदान – 48 (Godan – Hindi Novel by Premchand)

मुंशी प्रेमचंद (Munshi Premchand) का कालजयी उपन्यास - गोदान (Godan) यह लीग इस नगर की नई संस्था है और मालती के उद्योग से खुली है। नगर की सभी शिक्षित महिलाएँ उसमें शरीक हैं। मेहता के पहले भाषण ने महिलाओं में बड़ी हलचल मचा दी थी और ...

संक्षिप्त वाल्मीकि रामायण – 95 (Valmiki Ramayana in Hindi)

वाल्मीकि रामायण (Valmiki Ramayana) महर्षि वाल्मीकि (Maharshi Valmiki) रचित महाकाव्य है जिसमें भगवान विष्णु के अवतार श्री राम की कथा वर्णित है। वाल्मीकि रामायण (Valmiki Ramayana) को आदिकाव्य माना जाता है तथा इसे रामायण (Ramayana in Hindi) के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ पर ...