Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

मैग्नीशियम (Magnesium) एक महत्वपूर्ण क्षारीय धातु है जो प्राणियों और पौधों के पोषण के लिए आवश्यक है। हमें मेग्नेशियम (Magnesium) खाद्य पदार्थों से प्राप्त होता है। प्रस्तुत है मैग्नीशियम के बारे में कुछ रोचक तथ्य (Magnesium Facts)

मैग्नेशियम धातु आयन प्रत्येक क्लोरोफिल अणु के केंद्र में पाया जाता है।

प्रकाश संश्लेषण के लिए मेग्नेशियम एक अनिवार्य तत्व है।

मेग्नेशियम का स्वाद कटु (sour) होता है। पानी में मैग्नेशियम की जरा सी भी मात्रा पानी के स्वाद को कसैला कर देती है।

जलते हुए मेग्नेशियम में पानी छोड़ने पार आग और भड़क उठती है तथा हाइड्रोजन गैस उत्पन्न होता है।

मैग्नेशियम एक रजत-श्वेत क्षारीय धातु है।

मैग्नीशियम का नामकरण ग्रीक शहर मैग्नेशिया से हुआ है जो कि कैल्शियम ऑक्साइड का स्रोत है।

ब्रह्मांड में प्रचुर मात्रा में पाये जाने वाले तत्वों में मेग्नेशियम का स्थान नौंवाँ है।

ब्रह्मांड के बड़े तारों में नियॉन के साथ हीलियम का संलयन मेग्नेशियम के रूप में होता है।

सुपरनोवा तारों में मेग्नेशियम तत्व का निर्माण तीन हीलियम नाभिकों के एक कार्बन नाभिक के संयोग से होता है।

मानव शरीर में मात्रा के हिसाब से प्रचुर मात्रा में पाये जाने वाले तत्वों में मेग्नेशियम का स्थान 11वाँ है।

मैग्नीशियम आयन शरीर के प्रत्येक कोशिका में पाए जाते हैं।

शरीर में होने वाले सैकड़ों जैव रासायनिक प्रतिक्रियाओं के लिए मैग्नेशियम आवश्यक है।

एक सामान्य व्यक्ति को प्रति दिन 250-350 मि.ग्रा. मैग्नीशियम की आवश्यकता होती है याने कि प्रति वर्ष लगभग 100 ग्राम मैग्नीशियम की जरूरत होती है।

मानव शरीर में मैग्नीशियम का 60% कंकाल में, 39% मांसपेशियों के ऊतकों में और 1% बाह्य कोशिकाओं में पाया जाता है।

शरीर में मैग्नीशियम कमी से मधुमेह, हृदय रोग, ऑस्टियोपोरोसिस, नींद की गड़बड़ी, और मेटाबोलिक सिंड्रोम रोग होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

पृथ्वी की पर्पटी (Earth’s crust) में प्रचुर मात्रा में पाये जाने वाले तत्वों में मैगनीशियम का स्थान 8वाँ है।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail