Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

सौजन्यः श्री रवि यादव, Mo. +91 9728720725

हिन्दी में सामान्य ज्ञान (Samanya Gyan in Hindi)

आज के पोस्ट का विषय है पक्षी सामान्य ज्ञान (Birds General Knowledge)

पेश है हिन्दी में पक्षी सामान्य ज्ञान (Birds General Knowledge in Hindi) से सम्बन्धित जानकारी।

Birds General Knowledge

प्रसिद्ध् डॉ. भारतीय पक्षी वैज्ञानिक सलीम अली को ‘बर्ड मैन ऑफ इण्डिया’ (BIRD MAN OF INDIA) के नाम से से जाना जाता है।

डॉ. सलीम अली की जन्म तिथि 12 नवम्बर को राष्ट्रीय पक्षी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

हमिंग बर्ड को ‘प्रकृति का हेलीकाप्टर’ कहा जाता है।

पेंगिवन पक्षी का निवास स्थान अंटार्कटिका (दक्षिणी ध्रुव) हैं।

हरियाणा राज्य ने अपने सभी पर्यटन स्थलों का नामकरण पक्षियों के नाम पर किया है।

राजस्थान के सरिस्का अभयारण्य (अलवर) में हरे कबूतर पाये जाते हैं।

कबूतर को शांति का प्रतीक माना जाता हैं।

खंजन पक्षी अपने सुन्दर एवं चपल नेत्रों के लिए प्रसिद्ध् हैं।

बया पक्षी घोंसला बुनाई कला का आकर्षक नमूना प्रस्तुत करता है।

कीवी पक्षी के पंख नहीं होते।

हमिंग बर्ड विश्व का सबसे छोटा पक्षी है; उसका अंडा भी सबसे छोटा अण्डा होता है।

शुतुरमुर्ग संसार का सबसे बड़ा पक्षी है; उसका अंडा भी सबसे बड़ा अण्डा होता है।

कोयल कभी भी अपना घोंसला नहीं बनाती।

कोयल, पपीहा, श्यामा पक्षियों को गाने वाले पक्षी कहा जाता है।

अण्डमान-निकोबार द्वीप समूह को पक्षियों का स्वर्ग कहा जाता है।

बुलबुल को ‘ब्लैकबर्ड’ कहा जाता है।

एशिया महाद्वीप को ‘पक्षियों का महाद्वीप’ माना जाता है।

पक्षी सम्पदा की दृष्टि से सिक्किम भारत का सबसे महत्वपूर्ण राज्य है।

कबूतर को संदेशवाहक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

पक्षियों का अध्ययन को आरनिथोलॉजी कहा जाता है।

कबूतर में सामाजिक प्रवृत्ति पायी जाती है।

सरीसृप को पक्षियों का पूर्वज किसे माना जाता है।

चिड़ियों के पूर्वज का पहला जीवाश्म सन् 1861 में प्राप्त हुआ था।

भारतीय उपमहाद्वीप में पक्षियों का विधिवत अध्ययन डॉ. सलीम अली किसने आरम्भ किया था।

पक्षियों के शोध एवं अध्ययन में बाम्बे नेचुरलहिस्ट्री सोसाइटी (BNHS) ने विशेष योगदान दिया है।

‘बर्डस ऑफ इंडिया’ पुस्तक के लेखक जार्डन हैं।

शुतुरमुर्ग, कीवी और ईमू उड़ नहीं सकते।

सारस क्रेन भारत का सबसे लम्बा पक्षी है।

बया, बतासी, दरजिन, फुदकी, आबाबील को कारीगर पक्षी कहा जाता है।

चील, गिह्, उल्लू. कौआ सफाई करने वाले पक्षी हैं।

टिटिहरी सोते समय अपने पैर ऊपर करके सोता है।

बुलबुल, चरखी, मैना संयुक्त भोजी पक्षी हैं।

तोता, मैना, बत्तख, मुर्गा, सारस, मोर, शुतुरमुर्ग घरेलू पक्षी हैं।

कबूतर का वैज्ञानिक नाम कोलम्बालीविया हैं।

पक्षियों के हृदय में 4 वेश्म होते हैं।

शुतुरमुर्ग विश्व का सबसे ऊँचा पक्षी है।

शुतुरमुर्ग और स्वाइन टेल्ड सिवफ्ट सबसे तेज दौड़ने वाला पक्षी हैं।

गिह् विश्व का सबसे अधिक ऊँचाई पर उड़ना वाला पक्षी है, यह 30000 फुट की ऊँचाई तक उड़ सकता है।

गरूर पक्षी स्पेन का राष्ट्रीय प्रतीक है।

अल्बेस्ट्रास सबसे अधिक पंखों के विस्तार वाला पक्षी है।

द. अफ्रीका का कोरी बस्टर्ड उड़ने वाला सबसे भारी पक्षी है।

सारस पक्षी अपने साथी के वियोग में अपने प्राण त्याग देता हैं।

बत्तख ऐसा पक्षी है जो सिर के आगे रहते हुए भी पीछे देख सकता है।

किगेट विश्व का सबसे तेज उड़ने वाला पक्षी है, यह 1 घंटे में 48 कि.मी. तक उड़ सकता है।

शुगर वर्ड पक्षी की पूँछ उसके शरीर के अनुपात में चार गुना अधिक लम्बी होती है।

डार्टर या सर्प पक्षी पानी में अपनी गर्दन ऊपर किये हुए तैरता है।

सहदुल पक्षी, जो कि अब लुप्त हो चुका है, अपनी चोंच में हाथी जैसे जानवरों को भी लेकर उड़ सकता था।

अफ्रीका का कैमालियन पक्षी अपना रंग बदलता है।

वल्वास्टापालिस पराडाक्स पक्षी का आकार चप्पलों जैसा होता है।

नयन्ती स्कृक चिड़िया किसी भी चिड़िया की बोली बोल सकती हैं।

कौए को चोर पक्षी कहा जाता है।

उल्लू को चौकीदार (नाइट वाचमैन) कहा जाता है।

कौवा, चील और गिद्द मुर्दा खाने वाले पक्षी हैं।

उल्लू, बाज शिकारी पक्षी कहलाते हैं।

स्राइक पक्षी अपने शिकार को कांटों में धंसा देता है, इसी कारण से इसे कसाई चिड़िया कहा जाता है।

डायनासौर युग के पक्षी को आर्कियोप्टेरिक्स के नाम से जाना जाता है।

विश्व में पक्षियों की सबसे बड़ी बस्ती दक्षिण अमेरिका के पेरू में है।

सूटी टर्न पक्षी सबसे ज्यादा देर तक लगातार उड़ने वाला पक्षी है, यह 3 से 4 वर्षों तक लगातार उड़ता रह सकता है।

भारत का सबसे बड़ा चिड़ियाघर अलीपुर (कोलकाता) में है।

विश्व का सबसे बड़ा चिड़ियाघर दक्षिण अफ्रीका के क्रूजर पार्क में स्थित हैं।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail