Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

सौजन्यः श्री रवि यादव, Mo. +91 9728720725

हिन्दी में सामान्य ज्ञान (Samanya Gyan in Hindi)

आज के पोस्ट का विषय है इतिहास सामान्य ज्ञान (History General Knowledge)

पेश है हिन्दी में इतिहास से संबंधित सामान्य ज्ञान (History General Knowledge in Hindi) के बारे में जानकारी।

History General Knowledge

मोहम्मद गोरी भारत में जीते हुए प्रदेशों की देशभाल अपने विश्वसनीय जनरल कुतुबुद्दीन ऐबक पर छोड़कर गया था।

भारत में मुस्लिम शासन की नींव मोहम्मद गोरी ने डाली थी।

मोहम्मद गोरी का अंतिम आक्रमण पंजाब के खोखर के विरुद्ध किया था।

भारत में गुलाम वंश की स्थापना कुतुबुद्दीन ऐबक ने सन् 1206 में की थी।

दिल्ली सल्तनत की दरबारी भाषा फारसी थी।

आगरा शहर का निर्माण सिकंदर लोदी ने करावाया था।

कुतुबुद्दीन ऐबक की मृत्यु ‘चौगान’ खेलते समय हुई थी।

कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद का निर्माण कुतुबुद्दीन ऐबक ने करावाया था।

‘कुतुबमीनार’ के निर्माण का आरंभ कुतुबुद्दीन ऐबक ने किया था।

‘कुतुबमीनार’ को इल्तुतमिश ने पूरा करवाया था।

रजिया सुल्तान इल्तुतमिश की पुत्री थी।

सबसे अधिक मगोल अक्रमण अलाउद्दीन खिलजी शासन काल में हुए।

सांकेतिक मुद्रा का चलन मोहम्मद बिन तुगलक ने किया।

मोहम्मद बिन तुगलक को इतिहासकारों ने विरोधों का मिश्रण कहा है।

लोदी वंश का अंतिम शासक इब्राहिम लोदी था।

‘इनाम’ भूमि विद्धान तथा धार्मिक व्यक्ति को दी जाती थी।

दिल्ली की गद्दी पर बैठने वाली पहली महिला शासक रजिया सुल्तान थी।

अलाउद्दीन खिलजी ने दक्षिणी भारत को पराजित करने का प्रयास किया था।

विदेशी यात्री इब्नबतूता मोरक्को से आया था।

इब्नबतूता मोहम्मद बिन तुगलक के शासन में भारत आया था।

मुबारकशाह खिलजी ने स्वयं को ‘खलीफा’ घोषित किया था।

खिलजी वंश की स्थापना जलालुद्दीन फिरोज खिलजी ने 13 जून, 1290 को की थी।

भारतीय इतिहास में बाजार/मूल्य नियंत्रण पद्धति की शुरुआत अलाउद्दीन खिलजी के द्वारा की गई थी।

अलबरुनी का पूरा नाम अबूरैहान मुहम्मद था।

किताब उल-हिंद को ‘11 वीं सदी के भारत का दर्पण’ किसे कहा जाता है।

दिल्ली सल्तन के अलाउद्दीन खिलजी ने स्थायी सेना बनाई थी।

सिकंदर लोदी ‘गुलऊखी’ के उपनाम से कविताएँ लिखता था।

कुतुबमीनार का मुख्य द्वार अलाई दरवाजा है।

अलाउद्दीन खिलजी ने जलालुउद्दीन फिरोज खिलजी की हत्या की थी।

अलाउद्दीन के आक्रमण के समय देवगिरि का शासक रामचंद्र देव था।

सल्तनत काल में भू-राजस्व का सर्वोच्च ग्रामीण अधिकारी मलिक होता था।

तैमूर लंग ने भारत पर आक्रमण सन् 1398 में किया था।

बलबन के दरबार में सबसे अधिक गुलाम थे।

फिरोजशाह तुगलक ने बेरोजगारों को रोजगार दिया था।

मोहम्मद बिन तुगलक को भारत के इतिहास में ‘बुद्धिमान पागल’ शासक कहा जाता है।

मोहम्मद बिन तुगलक अपनी राजधानी दिल्ली से दौलताबाद ले गया था।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail