Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

सौजन्यः श्री रवि यादव, Mo. +91 9728720725

हिन्दी में सामान्य ज्ञान (Samanya Gyan in Hindi)

आज के पोस्ट का विषय है इतिहास सामान्य ज्ञान (History General Knowledge)

पेश है हिन्दी में इतिहास से संबंधित सामान्य ज्ञान (History General Knowledge in Hindi) के बारे में जानकारी।

History General Knowledge

‘तुगलकनामा’ के रचयिता अमीर खुसरो हैं।

अमीर खुसरों ने खड़ी बोली के विकास में अग्रणी भूमिका निभाई थी।

भारत में पोलो खेल का आरंभ तुर्कों के समय में हुआ था।

फिरोजशाह तुगलक दान-दक्षिणा में अधिक विश्वास रखता था तथा उसने ‘दिवान-ए-खैरात’ नामक विभाग की स्थापना की थी।

सितार को को हिंदू-मुस्लिम गान का सर्वश्रेष्ठ यंत्र माना गया है।

संगीत की ‘हिन्दुस्तानी’ शैली के जन्मदाता अमीर खुसरो हैं।

संगीत की ‘कव्वाली’ शैली के जन्मदाता अमीर खुसरो है।

अनुकूल परिस्थितियाँ होने पर भी गुलाम वंश के शासक मंगोल आक्रमण का भय होने के कारण अपने साम्राज्य का विस्तार नहीं कर पाये।

अलाउद्दीन खिलजी को द्वितीय सिकंदर अथवा ‘सिकंदर सानी’ कहा जाता है।

‘अढ़ाई दिन का झोपड़ा’ नामक मस्जिद कुतुबुदीन ऐबक ने बनवाया था।

चंगेज खाँ स्वयं को ‘ईश्वर का अभिशाप’ कहता था।

गुलामों के लगल विभाग ‘दीवान-ए-बंदगान’ की स्थापना फिरोज तुगलक के शासन की विशेषता थी।

दिल्ली का वह सुल्तान जिसने भारत में नहरों का जाल बिछाया, कौन था- फिरोजशाह तुगलक

अलाउक मुल्क के कहने पर अलाउद्दीन खिलजी ने सिकंदर के समान विश्व विजय की योजना को ठुकरा दिया था।

अलाउद्दीन खिलजी ने सैनिकों को भू-अनुदान के स्थान पर नगद वेतन देने की प्रथा चलाई थी।

सिकंदर लोदी ने भूमि मापने के पैमाने ‘गज-ए-सिकंदरी’ को प्रचलित किया।

मोहम्मद गोरी ने सिक्कों पर लक्ष्मी देवी की आकृति बनवाई थी।

अमीर खुसरो अलाउद्दीन खिलजी का राजदरबारी कवि था।

मुहम्मद बिन तुगलक ने अपना उपनाम ‘अबुल मजहिद्’ रखा था।

मुहम्मद बिन तुगलक की मृत्यु थट्टा में हुई थी।

रजिया बेगम को मारने में किसका हाथ था।

‘जवाबित’ का संबंध राज्य कानून से है।

अलाउद्दीन के बचपन का नाम अली गुरशप था।

अलाउद्दीन खिलजी बाजार के अंदर घूमकर बाजार का निरीक्षण करता था।

रेहला नामक पुस्तक में मुहम्मद बिन तुगलक के शासन की घटनाओं का वर्णन है।

जलालुद्दीन फिरोज खिलजी सुल्तान बनने से पहले बुलंदशहर का इक्तादार था।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail