Archives for General Knowledge - Page 2

Facts about water – General Knowledge

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

सामान्य ज्ञान (General Knowledgeedge) का दायरा अत्यन्त विस्तृत है। इसके अन्तर्गत हवा, पानी आग आदि सभी आ जाते हैं।

हिन्दी में सामान्य ज्ञान (General Knowledge in Hindi) के तहत पेश है जल जिसे कि हम अंग्रेजी में Water से संबंधित तथ्य (Water Facts)।

General Knowledge

  • जल का निर्माण दो तत्वों (हाइड्रोजन और ऑक्सीजन) के मेल से होता है तथा इसका रासायनिक सूत्र H2O है।
  • पानी के प्रत्येक अणु में हाइड्रोजन के दो परमाणु के साथ ऑक्सीजन का एक परमाणु अनुबद्ध होता है।
  • पृथ्वी पर जीवन के लिए पानी का होन अत्यावश्यक है।
  • शुद्ध जल गंधहीन तथा स्वादहीन होता है।
  • जल की तीन अवस्थाएँ होती हैं – द्रव, ठोस और गैस।
  • जल या पानी शब्द सामान्यतः जल की द्रव अवस्था का प्रतिनिधित्व करती है, जबकि जल की ठोस अवस्था को बर्फ तथा गैस अवस्था को वाष्प या भाप कहा जाता है।
  • पृथ्वी की सतह का लगभग 71% जल है।
  • प्रशान्त महासागर, अटलांटिक महासागर और हिन्द महासागर पृथ्वी के तीन सबसे बड़े महासागर हैं।
  • प्रशांत महासागर का मरीना ट्रेंच विश्व का सबसे गहरा गर्त है।
  • समुद्री ज्वार-भाटा कारण पृथ्वी का घूर्णन एवं सागरीय जल पर सूर्य तथा चन्द्रमा का गुरुत्वाकर्षण बल है।
  • समुद्र के जल को सागरीय जल कहा जाता है। एक किलो ग्राम सागरीय जल में औसतन 35 ग्राम नमक घुला होता है।
  • सागरीय जल का हिमांक (freezing point) उसमें घुले हए नमक की मात्रा पर निर्भर करता है, जितना अधिक नमक सागरीय जल में घुला होगा उतना ही कम उसका हिमांक होगा।
  • नमक की औसत मात्रा घुले सागरीय जल का हिमांक -20C (28.40F) होता है।
  • विश्व की सबसे लंबी नदी नील नदी है जो कि अपने उद्गम से अंत तक 6650 कि.मी. याने कि 4132 मील की यात्रा करती है।
  • अमेजन विश्व की दूसरी सबसे बड़ी नदी है, यह अपने उद्गम से अंत तक 6400 कि.मी. याने कि 4000 मील की यात्रा करती है।
  • शक्कर, नमक, अम्ल आदि अनेक वस्तुएँ पानी में घुल जाती हैं जबकि तेल, वसा आदि पानी में नहीं घुलते।
  • सागरों से जल का वाष्प बनकर आकाश में पहुँचना और वहाँ पर वाष्प का घनीभूत होकर बादल बनना तथा बादलों का वर्षा या ओला के रूप में पृथ्वी पर बरसना जल चक्र कहलाता है।
  • सामान्यतः जल 1000C (2120F) पर उबलता है जिसे कि जल का क्वथनांक कहा जाता है। कम वायुदाब वाले पर्वतीय क्षेत्रों में जल का क्वथनांक कम हो जाता है जैसे कि माउंट एवरेस्ट पर पानी 680C (1540F) पर ही उबलने लगता है।
  • -40C से लेकर -00C तक जल का आयतन बढते जाता है। यही कारण है कि सर्दी के दिनों में नलों के पाइप में पानी के जम जाने और आयतन के अधिक हो जाने की वजह से पाइपलाइन फट जाते हैं।
  • जल ऊँची सतह से नीची सतह की ओर बहता है।
  • कृषि के लिए पानी अत्यावश्यक है।
Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Share Markets and Price Indice – General Knowledge

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

 

हिन्दी में सामान्य ज्ञान (General Knowledge in Hindi) के तहत शेयर मार्केटों (Share Markets) एवं मूल्य सूचकांकों (Price Index) की जानकारी होना आवश्यक है।

वह बाजार जहाँ कंपनियों के शेयर खरीदे-बेचे जा सकते हैं, शेयर मार्केट (Share Market) कहलाता है।

हमारे देश के प्रमुख शेयर बाजार (Major Share Markets in India) हैं –

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE)- बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज की स्थापना 1875 में की गई थी। स्थापना के समय इसका नाम स्टॉक एक्सचेंज मुंबई था जिसे सन 2002 में बदलकर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) कर दिया गया। यह एशिया का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है।

राष्ट्रीय शेयर बाजार (National Stock Exchanges) – सन् 1991 में फेर्वानी समिति (Pherwani Committee) की अनुशंसा पर राष्ट्रीय शेयर बाजार की स्थापना 1992 की गई थी। इस शेयर बाजार का मुख्यालय मुंबई में है.

ओवर दी काउंटर एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया (OTCEI)- इस स्टॉक एक्सचेंज की स्थापना नवम्बर, 1992 में, संयुक्त राज्य अमेरिका के स्टॉक एक्सचेंज “NASDAQ” की अवधारणा पर मुंबई में की गयी थी। यज भारत का पहला ऑनलाइन ट्रेडिंग सुविधा वाला Computerized Exchange है। OTCEI में उन्हीं लघु या मध्यम औद्योगिक इकाइयों को सूचीबद्ध किया जाता है जिनका पूँजी स्तर रु.30 लाख से रु.25 करोड़ हो।

स्टॉक एक्सचेंज के विषय में महत्त्वपूर्ण जानकारी

संसार के पहले संगठित शेयर बाजार की स्थापना सन् 1602 में Amsterdam, Netherlands में की गई थी।

3 मई 2005 को National Commodity & Derivatives Exchange Ltd. (NCDEX) ने कृषि उत्पादों के लिए NCDEXAGRI नामक सूचकांक (Index) शुरू किया जो कि भारत का पहला Commodity Index है।

भारत में हरित निवेश को बढ़ावा (to promote green investment) देने के लिए ग्रीनेक्स (GREENEX) नामक शेयर मूल्य सूचकांक शुरू किया गया जो कि देश का पहला पर्यावरण अनुकूल शेयर मूल्य सूचकांक है।

कालाबाजारी की निगरानी और रोकथाम के लिए राष्ट्रीय आवास बैंक (NHB) द्वारा 11 जुलाई 2007 को रेजिडेक्स (RESIDEX) को लांच किया गया।

भारत के प्रमुख शेयर मूल्य सूचकांक (Major) Stock Price Indices in India)

SENSEX –

मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का संवेदनशील शेयर सूचकांक।

30 प्रमुख शेयरों का प्रतिनिधित्व करता है।

आधार वर्ष – 1978-79

BSE 200 –

यह मुंबई स्टॉक एक्सचेंज के 200 शेयरों का प्रतिनिधित्व करता है।

आधार वर्ष – 1989-90

DOLLEX- BSE 200 —

BSE 200 सूचकांक का डॉलर मूल्य सूचकांक।

आधार वर्ष – 1989-90

विश्व के प्रसिद्ध शेयर शेयर मूल्य सूचकांक एवं प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज

शेयर मूल्य सूचकांक (Share Price Index) स्टॉक एक्सचेंज (Stock Exchanges)
डो जोन्स (Dow Jones)न्यूयॉर्क
निक्की (Nikkei)टोकियो
मिड डेक्स (MID DAX)फैंकफर्ट, जर्मनी
हैंग सेंग (HANG SENG)हांगकांग
सिमेक्स (SIMEX)सिंगापुर
कोस्पी (KOSPI)कोरिया
सेट (SET)थाइलैंड
तेन (TAIEN)ताईवान
शंघाई कॉम (Shanghai Com)चीन
नासदाक (NASDAQ)संयुक्त राज्य अमेरिका
एस.एंड.पी (S.& P.)कनाडा
बोवेस्पाब्राजील
मिब्टेलइटली
आई.पी.सी. (IPC)मैक्सिको
जकार्ता कम्पोजिटइंडोनेशिया
KLSE कम्पोजिटमलेशिया
सियोल कम्पोजिटदक्षिण कोरिया
FTSE-100लन्दन
Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

English Proverbs with Hindi meaning-3

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

अंग्रेजी कहावतें – हिन्दी भावार्थ (English Proverbs with Hindi meaning)

कहावतें (Proverbs) को “गागर में सागर” कहा जा सकता है क्योंकि वे कम से कम शब्दों में बड़ी से बड़ी बातें कह जाती हैं। प्रस्तुत है महत्वपूर्ण अंग्रेजी कहावतों (English Proverbs) के हिन्दी अर्थ।

Bad news travels fast.
खराब समाचार तेजी से फैलता है।

Barking dogs seldom bite.
भौंकने वाले कुत्ते शायद ही काटते हैं।

Before criticizing a man, walk a mile in his shoes.
बगैर जाँचे-परखे किसी की आलोचना नहीं करनी चाहिये।

Beggars can’t be choosers.
भिखारियों को भीख में मनपसंद वस्तुएँ पाने का अधिकार नहीं होता।

Better to have it and not need it than to need it and not have it.
आवश्यक वस्तुओं का न होना भी अनावश्यक वस्तुओं के होने से अधिक अच्छा है।

Better to remain silent and be thought a fool, than to open your mouth and remove all doubt.
मौन रह कर मूर्ख समझा जाना अधिक अच्छा है बनिस्बत बोलकर समस्त संदेह मिटा देने के।

Better late than never.
दुर्घटना से देर भली।

Better safe than sorry.
बाद में दुःखी होने से पहले की सुरक्षा अच्छी।

Better the devil you know (than the one you don’t).
अनजान मित्र से जाना-पहचाना शत्रु अच्छा।

Bitter pills may have blessed effects.
दवा कड़वी होती है पर उसका प्रभाव मीठा होता है।

Blood is thicker than water.
खून पानी से गाढ़ा होता है।

Born with a silver spoon in his/her mouth.
मुँह में चांदी के चम्मच के साथ पैदा होना। (धनवान परिवार में जन्म होना।)

Brain is better than brawn.
बाहुबल से बुद्धिबल बेहतर होता है।

Buy the best and you only cry once.
सस्ता रोवे बार-बार, मंहगा रोवे एक बार।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

English Proverbs with Hindi meaning-2

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

अंग्रेजी कहावतें – हिन्दी भावार्थ (English Proverbs with Hindi meaning)

कहावतें (Proverbs) को “गागर में सागर” कहा जा सकता है क्योंकि वे कम से कम शब्दों में बड़ी से बड़ी बातें कह जाती हैं। प्रस्तुत है महत्वपूर्ण अंग्रेजी कहावतों (English Proverbs) के हिन्दी अर्थ।

A rolling stone gathers no moss.
लुढ़कते पत्थर का वजन नहीं होता।

A son is a son ’till he gets him a wife; a daughter’s a daughter all her life.
पुत्र तभी तक पुत्र होता है जब तक कि उसका विवाह नहीं हो जाता किन्तु पुत्री जीवन भर पुत्री ही रहती है।

Ability can take you to the top, but it takes character to keep you there.
योग्यता आपको सफलता की ऊँचाई तक पहुँचाती है किन्तु चरित्र आपको वहाँ बनाये रखती है।

Act today only tomorrow is too late.
आज का काम कल पर नहीं छोड़ना चाहिये। (काल करे सो आज कर, आज करे सो अब्ब।)

Action is the proper fruit of knowledge.
कर्म ही ज्ञान का सही प्रतिफल है।

Actions speak louder than words.
शब्दों की अपेक्षा कर्म का अधिक प्रभाव होता है।

Advice most needed is least heeded.
जब सलाह की सबसे अधिक जरूरत होती है तभी सबसे कम सलाह मिलती है।

After dinner sit a while, after supper walk a mile.
मध्याह्न भोज के बाद कुछ आराम करना चाहिये और रात्रि भोज के बाद एक मील तक टहलना चाहिये।

All the world is your country, to do good is your religion.
सम्पूर्ण संसार आपका देश है और भले कार्य आपका धर्म।

All flowers are not in one garden.
सारे फूल बगीचे में ही नहीं खिलते। (वीराने में भी फूल खिलते हैं।)

All roads lead to Rome.
सभी रास्तों की मंजिल रोम है। (सौ सयानों का एक मत!)

All’s fair in love and war.
प्यार और जंग में सब जायज है।

All for one and one for all.
एक के लिये सब और सब के लिये एक।

All’s well that ends well.
अंत भला सो भला।

All that glisters is not gold.
हर चमकने वाली चीज सोना नहीं होती।

All things come to him who waits.
इंतिजार का फल मीठा होता है।

An Englishman’s home is his castle.
एक अंग्रेज का घर उसका किला होता है।

An empty vessel makes the most noise.
खाली बर्तन अधिक आवाज करता है।

An ounce of prevention is worth a pound of cure.
दवा से प्रभाव परहेज का होता है।

As iron sharpens iron, so one man sharpens another.
जैसे लोहे में लोहा धार लगाता है वैसे ही मनुष्य ही मनुष्य को ज्ञानवान बनाता है।

As soon as a man is born,he begins to die.
मृत्यु की शुरुवात मनुष्य के जन्म के साथ ही हो जाती है।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

India’s first War of Independence – The Revolt of 1857

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

1857 का विद्रोह – भारत का प्रथम स्वातंत्र्य संग्राम

19वीं शताब्दी के पहले उत्तरार्द्ध तक ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने भारत के बड़े हिस्से अपने नियंत्रण में ले लिया था।

प्लासी के युद्ध के बाद सौ साल तक ब्रिटिश सरकार का अन्याय और दमन लगाता जारी रहा।

परिणामस्वरूप अन्यायी और दमनकारी ब्रिटिश सरकार के विरुद्ध क्रोध ने एक विद्रोह का रूप धारण कर लिया जिसने भारत में ब्रिटिश शासन की नींव को हिला कर रख दिया।

यह था 1857 का विद्रोह (The Revolt of 1857) जिसे भारत का प्रथम स्वातंत्र्य संग्राम (India’s first War of Independence) कहा जाता है।

जी हाँ, ब्रिटिश इतिहासकारों ने इसे सिपाही विद्रोह कहा पर भारतीय इतिहासकारों ने इसे 1857 का विद्रोह या भारतीय स्वतंत्रता का पहला युद्ध का नाम दिया।

1857 के विद्रोह का आरम्भ कंपनी की सेना के सिपाहियों के विद्रोह के रूप में हुआ, किन्तु अंततः जनता की भागीदारी इसमें शामिल हो गई।

ईस्ट इण्डिया कंपनी की सेना में 87% से भी अधिक सिपाही भारतीय थे किन्तु उन्हें अंग्रेज सिपाहियों से हीन समझा जाता था। भारतीय सिपाहियों को यूरोपीय सिपाहियों से कम वेतन दिया जाता था जबकि उनका पद एक समान होता था। भारतीय सिपाहियों को सूबेदार से ऊपर का पद नहीं दिया जाता था, उच्च पद केवल अंग्रेज सिपाहियों के लिए सुरक्षित था। इन सब वजहों से भारतीय सिपाहियों में असंतोष व्याप्त था। इन सबके अलावा भारतीय सिपाहियों को गाय और सूअर की चर्बी से युक्त कारतूस देना, जिसे कि दाँतों से काट कर इस्तेमाल किया जाता था 1857 के विद्रोह का सबसे बड़ा कारण था।

1857 के विद्रोह का प्रमुख राजनैतिक कारण था अंग्रेजों की हड़प नीति, प्रत्यक्ष विलय जैसी विस्तारवादी नीतियाँ। अपनी विस्तारवादी नीति के तहत अंग्रेजी सरकार ने सतारा, जैतपुर-संभलपुर, बघाट, उदयपुर, झाँसी, नागपुर, करौली और अवध राज्यों का विलय कंपनी सरकार में कर लिया। कंपनी ने अपने विस्तारवादी नीति के तहत एक बड़ी संख्या में भारतीय शासकों की उखाड़ फेंका था जिससे अन्य सत्तारूढ़ शासकों को भय होने लगा कि कहीं उनका भी यही परिणाम तो नहीं होने वाला है।

अंग्रेजों द्वारा भारत में पश्चिमी सभ्यता को फैलाने के फलस्वरूप पूरे भारत में एक बड़ी संख्या में भारतीयों द्वारा अपना धर्म त्याग कर ईसाई धर्म अपना लेना 1857 के विद्रोह का सामाजिक कारण था।

ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों तथा जमींदारों पर भारी टैक्स लगाना इस विद्रोह का आर्थिक कारण था।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Dances of India ‍‍‍‍‍‍- General Knowledge

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

भारत के नृत्य (Dances of India)

नृत्य (Dance) – राज्य
भरततनाट्यम – तमिलनाडु
बिहू – असम
भांगड़ा – पंजाब
छऊ – बिहार, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और झारखंड
गढ़वाली – उत्तराखंड
गरबा – गुजरात
कुनिथा – कर्नाटक
कथक – उत्तर प्रदेश
कथकली – केरल
कुचिपूडि – आंध्र प्रदेश
करमा – छत्तीसगढ़
लाहो – मेघालय
मोहिनीअट्टम – केरल
मांडो – गोवा
मणिपुरी – मणिपुर
नटी – हिमाचल प्रदेश
नट-नटिन – बिहार
ओडिसी – ओडिशा
रउफ – जम्मू व कश्मीर
यक्षगान – कर्नाटक

लोकनृत्य तथा जनजातीय नृत्य (Folk Dances and Tribal Dances)

राज्य – नृत्य (olk Dance/TraStates Dances)
तमिलनाडु – भारत नाट्यम, कोकाट्टम, पिन्नल कोलाट्टम, कुम्मी, कवादी, कारागम
असम – बिहू, खेल गोपाल, रासलीला, तबल चोंगली, कनोई
पंजाब – भांगड़ा, गिद्दा
उत्तराखंड – गढ़वाली
गुजरात – गरबा, डांडिया रास, टिप्पनी, गोम्फ
कर्नाटक – हत्लारी, यक्षागन, सुग्गी कुनिथा
उत्तर भारत – कत्थक
केरल – कथकली, मोहिनीअट्टम, कईकोट्टीकलि, कलियट्टम, थप्पातिक्कली
आंध्र प्रदेश – कुचिपुड़ी, घंटा मारडाला, विधि नाटकम, बुर्राकथा
मिजोरम – खान्तुम, बम्बू नृत्य
छत्तीसगढ़ – करमा
मेघालय – लाहो
मणिपुर – मणिपुरी
हिमाचल प्रदेश – नती, झोरा, झली, डंगली, महासू, जद्दा, झैंता, छर्ही
बिहार – नट-नटिन, जटा-जटिन, जादुर, छाउ, कथपुतली, बखो, झिझिया, समोचाक्वा, कर्मा, जात्रा, नतना
ओडिशा – ओडिसी, घूमरा संचार, चड़या दंदानाता, छउ
महाराष्ट्र – कथाकीर्तन, लेज़िन, डांडिया, तमाशा, गफा, दहिकला, लावणी, मौनी, दसावतार
पश्चिम बंगाल – कथी, छउ, बौल कीर्तन, जात्रा, लामा
जम्मू एवं कश्मीर – रउफ, हिकट
हरियाणा – झूमर, रासलीला, फग नृत्य, डफ, धमाल, लूर, गुग्गा, खोरिया, गगोर
राजस्थान -गिनाद, चकरी, गंगोर, तेराह्त्तल, ख्याल, झूलन लीला, झुमा, सुइसिनी
उत्तर प्रदेश – नौटंकी, थोरा, चपेली, रासलीला, कजरी

प्रसिद्ध नर्तक (Famous Dancer)

भरतनाट्यम – बाला सरस्वती, सी.वी. चन्द्रशेखर, लीला सैमसन, मृणालिनी साराभाई, पद्मा सुब्रम्ण्यम, रुक्मिणी देवी, संयुक्ता पाणिग्रही, सोनल मानसिंह, यामिनी कृष्णामूर्ति,

कथक – भारती गुप्ता, बिरजू महाराज, दमयन्ती जोशी, दुर्गा दास, गोपी कृष्ण, कुमुदिनी लखिया, शंभू महाराज, सितारा देवी

कुचिपूडि – जोस्युला सीतारमैया, राजा और राधा, कौशल्या रेड्डी, यामिनी रेड्डी, भवना रेड्डी

मणिपुरी – गुरु बिपिन सिन्हा, झावेरी बहनें, नयना झावेरी, निर्मला मेहता, सविता मेहता, धीरेन्द्र नाथ पटनायक,

ओडिसी – केलुचरण महापात्र, सुजाता महापात्र, राहुल आचार्य

प्रसिद्ध सरोद वादक

सरोद उस्ताद अलाउद्दीन खाँ, अमजद अली ख़ाँ, अयान अली खाँ, अमान अली, अली अक़बर ख़ाँ, दौलत खाँ, शरण रानी, राजीव तारानाथ, अब्दुल समी खाँ, विश्वजित रॉय चौधरी, अमित गोस्वामी, उस्ताद हाफिज अली खान, आशीष खान

प्रसिद्ध तबला वादक

उस्ताद अल्ला रक्खा ख़ाँ, अहमद जान थिरकवा, उस्ताद ज़ाकिर हुसैन, किशन महाराज, कंठे महाराज, अनोखे लाल, गुदई महाराज

प्रसिद्ध सितार वादक

पंडित रविशंकर, उस्ताद लियाकत ख़ाँ, शुजात ख़ान, पंडित उमा शंकर मिश्रा

प्रसिद्ध बाँसुरी वादक

हरिप्रसाद चौरसिया, पन्नालाल घोष, टी.आर. महालिंगम

प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक

भीमसेन जोशी शोभा मुद्गल, मधुप मुद्गल, मुकुल शिवपुत्र, पंडित जसराज, परवीन सुल्ताना, नैना देवी, गिरिजा देवी, उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान, गंगूबाई हंगल, कृष्णा हंगल, कुमार गंधर्व, फैयाज खान

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Important facts about India – General Knowledge

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

भारत से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य – Important facts about India

हमारे सामान्य ज्ञान (General Knowledge) की साइट में पधारने के लिए धन्यवाद!

हिन्दी में सामान्य ज्ञान (General Knowledge in Hindi) के अन्तर्गत प्रस्तुत है भारत (India) से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य।

क्षेत्रफल के आधार पर विश्व में भारत का स्थान— सातवाँ

जनसंख्या के आधार पर विश्व में भारत का स्थान — दूसरा

भारत के उत्तर में स्थित देश— चीन, नेपाल, भूटान

भारत के पूर्व में स्थित देश— बांग्लादेश

भारत के पश्चिम में स्थित देश— पाकिस्तान

भारत के दक्षिण पश्चिम में स्थित सागर— अरब सागर

भारत के दक्षिण-पूर्व में स्थित खाड़ी— बंगाल की खाड़ी

भारत के दक्षिण में स्थित महासागर— हिन्द महासागर

भारत को म्यांमार से अलग करने वाली पहाड़ियाँ — पूर्वांचल की पहाड़ियाँ

भारत और श्रीलंका को अलग करती हैं – मन्नार की खाड़ी और पाक जलडमरूमध्य

भारत की अंक्षाशीय विस्तार — 8° 4’ से 37°6’ उत्तरी अक्षांश

भारत के मध्य से गुजरने वाली रेखा— कर्क रेखा

भारत का उत्तर से दक्षिण तक विस्तार — 3214 कि.मी.

भारत का पूर्व से पश्चिम तक विस्तार — 2933 कि.मी.

अंडमान-निकोबार द्वीप समूह की स्थिति— बंगाल की खाड़ी में

लक्षद्वीप की स्थिति— अरब सागर में

भारत का दक्षिणी छोर — इंदिरा प्वाइंट

इंदिरा प्वांइट का दूसरा नाम — पिगमिलियन प्वाइंट

विश्व के क्षेत्रफल में भारत के क्षेत्रफल का प्रतिशत — 2. 42%

विश्व की कुल जनसंख्या में से भारत में निवास करने वालों का प्रतिशत — 17%

भारत का कुल क्षेत्रफल — 32,87,263 वर्ग कि.मी.

भारत की स्थल सीमा से लगे देश — बांग्लादेश, चीन, पाकिस्तान, नेपाल, वर्मा, भूटान

भारत की जल सीमा से मिलने वाले देश — मालदीव, श्रीलंका, बांग्लादेश, म्यांमार व पाकिस्तान

राज्य जिनसे होकर कर्क रेखा गुजरती है — राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिमी बंगाल, त्रिपुरा और मिजोरम

भारत की मुख्य भूमि की दक्षिणी सीमा का अक्षांश — 8°4’

भारत का मानक समय कहाँ से लिया गया है— इलाहाबाद के निकट नैनी नामक स्थान से

भारत के मानक समय और ग्रीनविच समय में अन्तर — 5 घण्टे 30 मिनट

भूमध्य रेखा से भारत के दक्षिण छोर की दूरी — 876 कि.मी.

भारत की स्थल सीमा की लंबाई — 15200 कि.मी.

भारत की मुख्य भूमि की तटरेखा की लंबाई — 6100 कि.मी.

भारत की कुल तटरेखा की लंबाई (द्वीप समूहों सहित) — 7516 कि.मी.

भारत के क्षेत्रफल में पर्वतों तथा पहाड़ियों के विस्तार का प्रतिशत — 28.8%

भारत के क्षेत्रफल में पर्वतों तथा मैदानी विस्तार का प्रतिशत — 44%

भारत में समुद्र तटरेखा वाले राज्यों की संख्या — 9

सबसे लंबी समुद्र तटरेखा वाला राज्य — गुजरात

सबसे छोटी समुद्र तटरेखा वाला राज्य – गोवा

भूमध्य रेखा से निकटतम भारत का स्थान — इंदिरा प्वाइंट

इंदिरा प्वाइंट की स्थिति — अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में

भारत की सबसे अधिक स्थल सीमा से लगा राज्य — बांग्लादेश

भारत का सबसे प्राचीन भू-आकृतिक भाग — प्रायद्वीपीय पठार

भारत के पूर्वी समुद्र तट का नाम — कोरोमंडल तट

कोंकण तट की स्थिति — गोवा से दमन तक

लक्षद्वीप समूह के द्वीपों की उत्पत्ति — प्रवाल द्वारा

न्यू मूर द्वीप की स्थिति — अंडमान सागर में

भारत और श्रीलंका के बीच में स्थित द्वीप — रामेश्वरम्

लक्षद्वीप समूह के कुल द्वीपों की संख्या — 36

लक्षद्वीप समूह में मानव निवास वाले द्वीपों की संख्या — 10

स्थान जिस ‘सफेद पानी’ के नाम से जाना जाता है — सियाचिन

चीन के अधिकार वाले जम्मू-कश्मीर के हिस्से का नाम — ऑक्साई चीन

भारत में स्थित शीत मरूस्थल — लद्दाख

भारत की देशांतर स्थिति — 68°7’ से 97°25’ तक

भारत में केंद्रशासित प्रदेश की संखंया — 7

न्यू मूर द्वीप के कारण भारत से विवाद वाला देश — बांग्लादेश

भारत का गोलार्द्ध — उत्तरी गोलार्द्ध

केंद्रशासित प्रदेश दादर नगर हवेली की स्थिति — गुजरात व महाराष्ट्र के बीच

पूर्व में NEFA के नाम से जाना जाने वाला राज्य — अरुणाचल प्रदेश

केंद्रशासित प्रदेश अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह की राजधानी पोर्ट ब्लेयर की स्थिति — दक्षिण अंडमान में

राज्य जो उत्तरी पूर्वी राज्य की ‘सात बहनों’ का हिस्सा नहीं है — सिक्किम और पश्चिमी बंगाल

महत्वपूर्ण अक्षांश जो भारत को दो भागों में बाँटता है — 23°3’ उत्तर

उत्तर भारत में उपहिमालय क्षेत्र के सहारे फैले समतल मैदान का नाम— भावर

कोरी निवेशिका की स्थिति — कच्छ का रन में

तीन ओर से बांग्लादेश से घिरा भारत का का राज्य — त्रिपुरा

भारत का ‘मरूस्थल की राजधानी’ कहा जाने वाला स्थान — जैसलमेर

अरावली और विंध्य श्रृंखलओं के बीच का पठार — मालवा का पठार

अरब सागर में स्थित भारतीय द्वीपों की मुख्य विशिष्टता — सभी द्वीप प्रवाल उद्गम के है

‘मैकान का पठार’ की स्थिति — छत्तीसगढ़ में

छोटा नागपुर नाम से जाना जाने वाला पठार — राँची का पठार

इंदिरा प्वाइंट की भूमध्य रेखा से दूरी — 876 कि.मी.

भारत और चीन की सीमा रेखा को स्पर्श करने वाले भारतीय राज्य —

अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर और मिजोरम

दक्षिणी भारत की सबसे ऊँची चोटी — अन्नाईमुडी

प्राचीन भारतीय भौगोलिक मान्यता के अनुसार भारत किस द्वीप का अंग था — जम्बू द्वीप का

भारतीय मानक समय के आषार वाला देशांतर — 82°36’ पूर्व

आदम का पुल की स्थिति — बैरन और नारकोण्डम के बीच

हैदराबाद का जुड़वां नगर — सिकंदराबाद

थार भूमि की स्थिति — राजस्थान में

सबसे अधिक राज्य की सीमाओं को स्पर्श करने वाला राज्य — उत्तर प्रदेश

स्वतंत्रता पूर्व ‘काला पानी’ के नाम से जाना जाने वाला स्थान — अंडमान-निकोबार द्वीप समूह

भारत की सबसे लंबी सुरंग ‘पीर पंजाल सुरंग’ की स्थिति है — जम्मू-कश्मीर में

भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा रेखा का निर्धारण करने वाले का नाम — सर सिरिल जॉन रेडक्लिफ

चीन, नेपाल और भूटान की सीमा को स्पर्श करने वाला राज्य — सिक्किम

डंकन पास की स्थिति — दक्षिण अंडमान और लिटिल अंडमान के मध्य

भारत की भूमि का सबसे उत्तरी भाग का नाम — इंदिरा कॉल

अटांर्कटिका स्थित भारतीय वैज्ञानिक अनुसंधान केंद्र — दक्षिण गंगोत्री

क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत के तीन बड़े राज्यों का क्रम — राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र

आंध्र प्रदेश की पुरानी राजधानी का नाम — कुर्नूल

ओडिशा की पुरानी राजधानी का नाम – कटक

सतपुड़ा पर्वत श्रृंखला की स्थित — मध्य प्रदेश में

अंडमान-निकोबार द्वीप समूह की सबसे ऊँची चोटी — सैडल पीक

मंगलोर से कन्याकुमारी तक के तटीय क्षेत्र का नाम — मालाबार तट

दक्कन का पठार के विस्तार वाले राज्य — महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश

धारवाड़ का पठार की स्थिति — कर्नाटक में

नीलगिरि की पहाड़ियाँ की स्थिति — तमिलनाडु में

अन्नाईमुडी चोटी की ऊँचाई — 2695 मीटर

अरावली की पहाड़ियों की स्थिति — राजस्थान में

अरावली के पूर्व की ओर से निकलने वाली नदी — बनास नदी

असम और अरुणाचल प्रदेश के बीच सीमा बनाने वाली नदी — संकोशी नदी

भू-वैज्ञानिकों के अनुसार हिमालय पर्वत पहले था — टिथिस नामक समुद्रा

भारत और पाकिस्तान के बीच रेडक्लिफ रेखा के निर्धारण का दिनांक — 15 अगस्त 1947

महेन्द्रगिरी की पहाड़ियों की स्थिति — ओड़िशा एवं आंध्र प्रदेश बीच

पम्बन द्वीप की स्थिति — मन्नार की खाड़ी में

केंद्रशासित प्रदेशों में सबसे बड़ा पत्तन — पोर्ट ब्लेयर

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Important events of Indian History – General Knowledge

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

भारतीय इतिहास की महत्वपूर्ण घटनाएँ (Important events of Indian History)

हिन्दी में सामान्य ज्ञान (General Knowledge in Hindi) के तहत पेश है भारतीय इतिहास (Indian History) की महत्वपूर्ण घटनाएँ।

ई.पू. 2500-1800 सिंधु घाटी सभ्यता

ई.पू. 599 भगवान महावीर का जन्म, ई.पू 523 में निर्वाण

ई.पू. 563 गौतम बुद्ध का जन्म, ई.पू 483 में निर्वाण

ई.पू. 327-26 भारत पर सिकंदर का आक्रमण, भारत और यूरोप के मध्य सड़क मार्ग का आरम्भ

ई.पू. 269-232 अशोक का शासनकाल

ई.पू. 261 कलिंग युद्ध

ई.पू. 57 विक्रम संवत का आरम्भ

ई.पू. 30 प्रतिष्ठान (गोदावरी नदी के तट पर स्थित पैठन) में सातवाहन राजवंश, दक्षिण में पंडियन साम्राज्य

ई.पू. 326 सिकंदर द्वारा पोरस पर वितस्ता के युद्ध में विजय

ई.पू. 261 अशोक द्वारा कलिंग विजय

सन् 78 शक संवत का आरम्भ

सन् 320 गुप्त युग की शुरुआत

सन् 360 समुद्रगुप्त द्वारा संपूर्ण उत्तर भारत तथा अधिकांश दक्कन पर विजय

सन् 380-413 चंद्रगुप्त विक्रमादित्य का शासन, कालिदास का काल, हिंदुत्व का नवीकरण

सन् 606-647 हर्षवर्धन का शासन

सन् 629-645 चीनी यात्री ह्वेन त्सांग का भारत आगमन

सन् 712 मोहम्मद बिन कासिम द्वारा सिंध पर आक्रमण

सन् 1001-27 महमूद गजनी द्वारा भारत पर बारम्बार आक्रमण

सन् 1025 महमूद गजनी ने सोमनाथ मंदिर को लूटअ

सन् 1191 तराइन का पहला युद्ध जिसमें पृथ्वीराज चौहान ने मोहम्मद गोरी को परास्त किया

सन् 1192 तराइन का पहला युद्ध जिसमें मोहम्मद गोरी ने पृथ्वीराज चौहान को परास्त किया

सन् 1206 कुतुबुद्दीन ऐबक द्वारा गुलाम वंश की स्थापना

सन् 1290 जलालुद्दीन फिरोज खिलजी द्वारा खिलजी वंश की स्थापना

सन् 1320 गयासुद्दीन फिरोज तुगलक द्वारा तुगलक वंश की स्थापना

सन् 1333 इब्न बतूता का भारत आगमन

सन् 1336 हरिहर और बुक्का द्वारा विजयनगर साम्राज्य की स्थापना

सन् 1347 बहमनी राज्य की स्थापना

सन् 1398 तैमूर का आक्रमण

सन् 1451 दिल्ली सल्तनत में लोदी वंश का सत्ता में आना

सन् 1469 गुरु नानक का जन्म

सन् 1498 वास्को डी गामा का कालीकट पहुँचना

सन् 1510 पुर्तगाली गवर्नर-अल्बुकर्क का गोवा पर कब्जा

सन् 1526 पानीपत का प्रथम युद्ध जिसमें बाबर ने इब्राहिम लोदी को परास्त कर मुगल वंश की स्थापना की

सन् 1556 पानीपत का द्वितीय युद्ध जिसमें अकबर ने हेमू को हराया

सन् 1565 तालिकोटा का युद्ध जिसमें विजयनगर साम्राज्य की पराजय हुई

सन् 1571 अकबर द्वारा फतेहपुर सीकरी की स्थापना

सन् 1576 हल्दीघाटी का युद्ध जिसमें अकबर ने महाराणा प्रताप को परास्त किया

सन् 1582 अकबर द्वारा दीन-ए-इलाही की शुरुआत

सन् 1600 ब्रिटिश ईस्ट इण्डिया कंपनी की स्थापना

सन् 1604 अर्जुन देव द्वारा आदि ग्रंथ का पूरा करना

सन् 1605 अकबर की मृत्यु

सन् 1611 अंग्रेजों द्वारा मछलीपटनम में फैक्ट्री बनाना

सन् 1627 शिवाजी का जन्म

सन् 1631 शाहजहां की पत्नी मुमताज महल की मृत्यु. ताजमहल का निर्माण

सन् 1658 औरंगजेब का दिल्ली का बादशाह बनना

सन् 1666 गुरु गोविन्द सिंह का जन्म

सन् 1699 गुरु गोविन्द सिंह द्वारा ‘खालसा’ की स्थापना

सन् 1707 औरंगजेब की मृत्य, मुगल वंश के पतन का आरम्भ

सन् 1739 नादिरशाह का आक्रमण; मयूर सिंहासन और कोहिनूर हीरा का भारत से बाहर चला जाना

सन् 1757 प्लासी का युद्ध जिसमें अंग्रेजों ने बंगाल के नवाब सिराज-उद्-दौला को हराया

सन् 1760 वाण्डीवाश का युद्ध, भारत में फ्रांस शक्ति का अन्त

सन् 1761 पानीपत का तृतीय युद्ध जिसमें अहमद शाह अब्दाली ने मराठों को हराया

सन् 1764 बक्सर की लड़ाई जिसमें अंग्रेजों ने बंगाल के नवाब मीर कासिम, अवध के नवाब शुजा-उदौला और मुगल शाह शाह आलम के गठबंधन को हराया।

सन् 1793 बंगाल में स्थायी बंदोबस्त

सन् 1799 चौथा एंग्लो मैसूर युद्ध, टीपू सुल्तान की मृत्यु, रंजीत सिंह ने लाहौर पर कब्जा कर लिया और उसे अपनी राजधानी बनाया

सन् 1817-19 मराठों की शक्ति का पूर्णतः क्षीण होना

सन् 1828 लॉर्ड विलियम बेंटिंक का गर्वनर जनरल बनना; सामाजिक सुधारों का युग; सती प्रथा का निषेध, ठगों का दमन

सन् 1835 अंग्रेजी को शिक्षा का माध्यम बनाया जाना

सन् 1853 बंबई से ठाणे तक पहला भारतीय रेल

सन् 1857-58 भारतीय स्वतंत्रता का पहला युद्ध

सन् 1858 ब्रिटिश सम्राट द्वारा भारत सरकार को अपने हाथों में लेना; ईस्ट इंडिया कंपनी के शासन का अंत

सन् 1861 रवीन्द्र नाश टैगोर का जन्म

सन् 1869 मोहनदास करमचंद गांधी का जन्म

सन् 1885 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना

सन् 1905 लॉर्ड कर्जन द्वारा बंगाल का विभाजन

सन् 1906 मुस्लिम लीग की स्थापना

सन् 1909 मिंटो-मॉर्ले सुधार

सन् 1911 दिल्ली दरबार का आयोजन, बंगाल का विभाजन रद्द, राजधानी का कलकत्ता से दिल्ली स्थानांतरण

सन् 1919 रोवलैट एक्ट, जलियांवाला बाग नरसंहार, मोंटेग्यू-चेम्सफोर्ड सुधार, असहयोग आंदोलन का आरम्भ

सन् 1921 मालाबार में मोपला विद्रोह; वेल्स के राजकुमार की यात्रा

सन् 1922 चौरी-चौरा घटना

सन् 1923 स्वराज पार्टी का गठन

सन् 1927 साइमन कमीशन की नियुक्ति

सन् 1928 साइमन आयोग का भारत आगमन, लाला लाजपत राय की मृत्यु

सन् 1929 लहौर अधिवेशन में कांग्रेस द्वारा ‘पूर्ण स्वराज’ की माँग

सन् 1930 26 जनवरी को पूरे भारत में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाना, दांडी यात्रा, सत्याग्रह, पहला गोलमेज सम्मेलन

सन् 1931 गांधी-ड़रविन पैक्ट, दूसरा गोलमेज सम्मेलन
सन् 1932 कांग्रेस आंदोलन का दमन, तीसरा गोलमेज सम्मेलन, पूना पैक्ट

सन् 1935 भारत सरकार अधिनियम

सन् 1937 प्रांतीय स्वायत्तता का उद्घाटन, 11 प्रांतों में से 8 में कांग्रेस मंत्रालयों गठन

सन् 1939 कांग्रेस मंत्रालयों के इस्तीफे, द्वितीय विश्व युद्ध का आरम्भ

सन् 1942 क्रिप्स मिशन योजना, भारत छोड़ो आंदोलन, सुभाष चन्द्र बोस द्वारा आजाद हिन्द फौज का गठन

सन् 1945 शिमला सम्मेलन का आयोजन और वावेल योजना की विफलता, दिल्ली के लाल किले में आईएनए परीक्षण

सन् 1946 कैबिनेट मिशन योजना, अंतरिम सरकार का गठन, मुस्लिम लीग द्वारा प्रत्यक्ष कार्रवाई का संकल्प

सन् 1947 भारत का विभाजन, पाकिस्तान का निर्माण, भारत तथा पाकिस्तान की स्वतन्त्रता

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Articles of Indian Constitution and their subjects – General Knowledge

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

सौजन्यः श्री रवि यादव

हिन्दी में सामान्य ज्ञान (General Knowledge in Hindi) के अन्तर्गत् प्रस्तुत है भारतीय संविधान (Indian Constitution) के अनुच्छेदों (constitution articles) के विषय में जानकारी।

Articles of Indian Constitution and their subjects

अनुच्छेद 1 – संघ का नाम और राज्य क्षेत्र

अनुच्छेद 2 – नए राज्यों की स्थापना

अनुच्छेद 3 – राज्य की सीमाओं या नामों मे परिवर्तन

अनुच्छेद 4 – पहली अनुसूची तथा चौथी अनुसूची के संशोधन तथा अनुच्छेद दो और तीन के अधीन बनाई गई विधियाँ

अनुच्छेद 5 – भारत की नागरिकता

अनुच्छेद 6 – भारत आने वाले व्यक्तियों को नागरिकता

अनुच्छेद 7 -पाकिस्तान जाने वालों को नागरिकता

अनुच्छेद 8 – भारत के बाहर रहने वाले व्यक्तियों का नागरिकता

अनुच्छेद 9 – विदेशी राज्य की नागरिकता लेने पर नागरिकता का ना होना

अनुच्छेद 10 – नागरिकता के अधिकारों का बना रहना

अनुच्छेद 11 – संसद द्वारा नागरिकता के लिए कानून का विनियमन

अनुच्छेद 12 – राज्य की परिभाषा

अनुच्छेद 13 – मूल अधिकारों को असंगत या अल्पीकरण करने वाली विधियाँ

अनुच्छेद 14 – विधि के समक्ष समानता

अनुच्छेद 15 – धर्म जाति लिंग पर भेद का प्रतिशेध

अनुच्छेद 16 – लोक नियोजन में अवसर की समानता

अनुच्छेद 17 – अस्पृश्यता की समाप्ति

अनुच्छेद 18 – उपाधियों का अंत

अनुच्छेद 19 – बोलने की स्वतंत्रता

अनुच्छेद 20 – अपराधों के दोष सिद्धि के संबंध में संरक्षण

अनुच्छेद 21 -प्राण और दैहिक स्वतंत्रता

अनुच्छेद 21 क – 6 से 14 वर्ष के बच्चों को शिक्षा का अधिकार

अनुच्छेद 22 – कुछ दशाओं में गिरफ्तारी से सरंक्षण

अनुच्छेद 23 – मानव के दुर्व्यापार और बाल आश्रम

अनुच्छेद 24 – कारखानों में बालक का नियोजन का प्रतिशत

अनुच्छेद 25 – धर्म का आचरण और प्रचार की स्वतंत्रता

अनुच्छेद 26 -धार्मिक कार्यों के प्रबंध की स्वतंत्रता

अनुच्छेद 29 – अल्पसंख्यक वर्गों के हितों का संरक्षण

अनुच्छेद 30 – शिक्षा संस्थाओं की स्थापना और प्रशासन करने का अल्पसंख्यक वर्गों का अधिकार

अनुच्छेद 32 – अधिकारों को प्रवर्तित कराने के लिए उपचार

अनुच्छेद 36 – परिभाषा

अनुच्छेद 40 – ग्राम पंचायतों का संगठन

अनुच्छेद 48 – कृषि और पशुपालन संगठन

अनुच्छेद 48क – पर्यावरण वन तथा वन्य जीवों की रक्षा

अनुच्छेद 49- राष्ट्रीय स्मारक स्थानों और वस्तुओं का संरक्षण

अनुछेद. 50 – कार्यपालिका से न्यायपालिका का प्रथक्करण

अनुच्छेद 51 – अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा

अनुच्छेद 51क – मूल कर्तव्य

अनुच्छेद 52 – भारत का राष्ट्रपति

अनुच्छेद 53 – संघ की कार्यपालिका शक्ति

अनुच्छेद 54 – राष्ट्रपति का निर्वाचन

अनुच्छेद 55 – राष्ट्रपति के निर्वाचन की रीती

अनुच्छेद 56 – राष्ट्रपति की पदावधि

अनुच्छेद 57 – पुनर्निर्वाचन के लिए पात्रता

अनुच्छेद 58 – राष्ट्रपति निर्वाचित होने के लिए आहर्ताएँ

अनुच्छेद 59 – राष्ट्रपति पद के लिए शर्ते

अनुच्छेद 60 – राष्ट्रपति की शपथ

अनुच्छेद 61 – राष्ट्रपति पर महाभियोग चलाने की प्रक्रिया

अनुच्छेद 62 – राष्ट्रपति पद पर व्यक्ति को भरने के लिए निर्वाचन का समय और रीतियां

अनुच्छेद 63 – भारत का उपराष्ट्रपति

अनुच्छेद 64 – उपराष्ट्रपति का राज्यसभा का पदेन सभापति होना

अनुच्छेद 65 – राष्ट्रपति के पद की रिक्त पर उप राष्ट्रपति के कार्य

अनुच्छेद 66 – उप-राष्ट्रपति का निर्वाचन

अनुच्छेद 67 – उपराष्ट्रपति की पदावधि

अनुच्छेद 68 – उप राष्ट्रपति के पद की रिक्त पद भरने के लिए निर्वाचन

अनुच्छेद 69 – उप राष्ट्रपति द्वारा शपथ

अनुच्छेद 70 – अन्य आकस्मिकता में राष्ट्रपति के कर्तव्यों का निर्वहन

अनुच्छेद 71. – राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के निर्वाचन संबंधित विषय

अनुच्छेद 72 -क्षमादान की शक्ति

अनुच्छेद 73 – संघ की कार्यपालिका शक्ति का विस्तार

अनुच्छेद 74 – राष्ट्रपति को सलाह देने के लिए मंत्रिपरिषद

अनुच्छेद 75 – मंत्रियों के बारे में उपबंध

अनुच्छेद 76 – भारत का महान्यायवादी

अनुच्छेद 77 – भारत सरकार के कार्य का संचालन

अनुच्छेद 78 – राष्ट्रपति को जानकारी देने के प्रधानमंत्री के कर्तव्य

अनुच्छेद 79 – संसद का गठन

अनुच्छेद 80 – राज्य सभा की सरंचना

अनुच्छेद 81 – लोकसभा की संरचना

अनुच्छेद 83 – संसद के सदनो की अवधि

अनुच्छेद 84 -संसद के सदस्यों के लिए अहर्ता

अनुच्छेद 85 – संसद का सत्र सत्रावसान और विघटन

अनुच्छेद 87 – राष्ट्रपति का विशेष अभी भाषण

अनुच्छेद 88 – सदनों के बारे में मंत्रियों और महानयायवादी अधिकार

अनुच्छेद 89 – राज्यसभा का सभापति और उपसभापति

अनुच्छेद 90 – उपसभापति का पद रिक्त होना या पद हटाया जाना

अनुच्छेद 91 -सभापति के कर्तव्यों का पालन और शक्ति

अनुच्छेद 92 – सभापति या उपसभापति को पद से हटाने का संकल्प विचाराधीन हो तब उसका पीठासीन ना होना

अनुच्छेद 93 – लोकसभा का अध्यक्ष और उपाध्यक्ष

अनुचित 94 – अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का पद रिक्त होना

अनुच्छेद 95 – अध्यक्ष में कर्तव्य एवं शक्तियां

अनुच्छेद 96 – अध्यक्ष उपाध्यक्ष को पद से हटाने का संकल्प हो तब उसका पीठासीन ना होना

अनुच्छेद 97 – सभापति उपसभापति तथा अध्यक्ष,उपाध्यक्ष के वेतन और भत्ते

अनुच्छेद 98 – संसद का सविचालय

अनुच्छेद 99 – सदस्य द्वारा शपथ या प्रतिज्ञान

अनुच्छेद 100 – संसाधनों में मतदान रिक्तियाँ के होते हुए भी सदनों के कार्य करने की शक्ति और गणपूर्ति

अनुच्छेद 108 – कुछ दशाओं में दोनों सदनों की संयुक्त बैठक

अनुत्छेद 109 – धन विधेयक के संबंध में विशेष प्रक्रिया

अनुच्छेद 110 – धन विधायक की परिभाषा

अनुच्छेद 111 – विधेयकों पर अनुमति

अनुच्छेद 112 – वार्षिक वित्तीय विवरण

अनुच्छेद 118 – प्रक्रिया के नियम

अनुच्छेद 120 – संसद में प्रयोग की जाने वाली भाषा

अनुच्छेद 123 – संसद विश्रांति काल में राष्ट्रपति की अध्यादेश शक्ति

अनुच्छेद 124 – उच्चतम न्यायालय की स्थापना और गठन

अनुच्छेद 125 – न्यायाधीशों का वेतन

अनुच्छेद 126 – कार्य कार्य मुख्य न्याय मूर्ति की नियुक्ति

अनुच्छेद 127 – तदर्थ न्यायमूर्तियों की नियुक्ति

अनुच्छेद 128 – सेवानिवृत्त न्यायाधीशों की उपस्थिति

अनुच्छेद 129 – उच्चतम न्यायालय का अभिलेख नयायालय होना

अनुच्छेद 130 – उच्चतम न्यायालय का स्थान

अनुच्छेद 131 – उच्चतम न्यायालय की आरंभिक अधिकारिता

अनुच्छेद 137 – निर्णय एवं आदेशों का पुनर्विलोकन

अनुच्छेद 143 – उच्चतम न्यायालय से परामर्श करने की राष्ट्रपति की शक्ति

अनुच्छेद144 -सिविल एवं न्यायिक पदाधिकारियों द्वारा उच्चतम न्यायालय की सहायता

अनुच्छेद 148 – भारत का नियंत्रक महालेखा परीक्षक

अनुच्छेद 149 – नियंत्रक महालेखा परीक्षक के कर्तव्य शक्तिया

अनुच्छेद 150 – संघ के राज्यों के लेखन का प्रारूप

अनुच्छेद 153 – राज्यों के राज्यपाल

अनुच्छेद 154 – राज्य की कार्यपालिका शक्ति

अनुच्छेद 155 – राज्यपाल की नियुक्ति

अनुच्छेद 156 – राज्यपाल की पदावधि

अनुच्छेद 157 – राज्यपाल नियुक्त होने की अर्हताएँ

अनुच्छेद 158 – राज्यपाल के पद के लिए शर्तें

अनुच्छेद 159 – राज्यपाल द्वारा शपथ या प्रतिज्ञान

अनुच्छेद 163 – राज्यपाल को सलाह देने के लिए मंत्री परिषद

अनुच्छेद 164 – मंत्रियों के बारे में अन्य उपबंध

अनुच्छेद 165 – राज्य का महाधिवक्ता

अनुच्छेद 166 – राज्य सरकार का संचालन

अनुच्छेद 167 – राज्यपाल को जानकारी देने के संबंध में मुख्यमंत्री के कर्तव्य

अनुच्छेद 168 – राज्य के विधान मंडल का गठन

अनुच्छेद 170 – विधानसभाओं की संरचना

अनुच्छेद 171 – विधान परिषद की संरचना

अनुच्छेद 172 – राज्यों के विधानमंडल कि अवधि

अनुच्छेद 176 – राज्यपाल का विशेष अभिभाषण

अनुच्छेद 177 सदनों के बारे में मंत्रियों और महाधिवक्ता के अधिकार

अनुच्छेद 178 – विधानसभा का अध्यक्ष और उपाध्यक्ष

अनुच्छेद 179 – अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का पद रिक्त होना या पद से हटाया जाना

अनुच्छेद 180 – अध्यक्ष के पदों के कार्य व शक्ति

अनुच्छेद 181 – अध्यक्ष उपाध्यक्ष को पद से हटाने का कोई संकल्प पारित होने पर उसका पिठासिन ना होना

अनुच्छेद 182 – विधान परिषद का सभापति और उपसभापति

अनुच्छेद 183 – सभापति और उपासभापति का पद रिक्त होना पद त्याग या पद से हटाया जाना

अनुच्छेद 184 – सभापति के पद के कर्तव्यों का पालन व शक्ति

अनुच्छेद 185 – संभापति उपसभापति को पद से हटाए जाने का संकल्प विचाराधीन होने पर उसका पीठासीन ना होना

अनुच्छेद 186 – अध्यक्ष उपाध्यक्ष सभापति और उपसभापति के वेतन और भत्ते

अनुच्छेद 187 – राज्य के विधान मंडल का सविचाल.

अनुच्छेद 188 – सदस्यों द्वारा शपथ या प्रतिज्ञान

अनुच्छेद 189 – सदनों में मतदान रिक्तियां होते हुए भी साधनों का कार्य करने की शक्ति और गणपूर्ति

अनुच्छेद 199 – धन विदेश की परिभाषा

अनुच्छेद 200 – विधायकों पर अनुमति

अनुच्छेद 202 – वार्षिक वित्तीय विवरण

अनुच्छेद 213 – विधानमंडल में अध्यादेश सत्यापित करने के राज्यपाल की शक्ति

अनुच्छेद 214 – राज्यों के लिए उच्च न्यायालय

अनुच्छेद 215 – उच्च न्यायालयों का अभिलेख न्यायालय होना

अनुच्छेद 216 – उच्च न्यायालय का गठन

अनुच्छेद 217 – उच्च न्यायालय न्यायाधीश की नियुक्ति पद्धति शर्तें

अनुच्छेद 221 – न्यायाधीशों का वेतन

अनुच्छेद 222 – एक न्यायालय से दूसरे न्यायालय में न्यायाधीशों का अंतरण

अनुच्छेद 223 – कार्यकारी मुख्य न्याय मूर्ति के नियुक्ति

अनुच्छेद 224 – अन्य न्यायाधीशों की नियुक्ति

अनुच्छेद 226 – कुछ रिट निकालने के लिए उच्च न्यायालय की शक्ति

अनुच्छेद 231 – दो या अधिक राज्यों के लिए एक ही उच्च न्यायालय की स्थापना

अनुच्छेद 233 – जिला न्यायाधीशों की नियुक्ति

अनुच्छेद 241 – संघ राज्य क्षेत्र के लिए उच्च-न्यायालय

अनुच्छेद 243 – पंचायत नगर पालिकाएं एवं सहकारी समितियां

अनुच्छेद 244 – अनुसूचित क्षेत्रो व जनजाति क्षेत्रों का प्रशासन

अनुच्छेद 248 – अवशिष्ट विधाई शक्तियाँ

अनुच्छेद 252 – दो या अधिक राज्य के लिए सहमति से विधि बनाने की संसद की शक्ति

अनुच्छेद 254 – संसद द्वारा बनाई गई विधियों और राज्यों के विधान मंडल द्वारा बनाए गए विधियों में असंगति

अनुच्छेद 256 – राज्यों की और संघ की बाध्यता

अनुच्छेद 257 – कुछ दशाओं में राज्यों पर संघ का नियंत्रण

अनुच्छेद 262 – अंतर्राज्यक नदियों या नदी दूनों के जल संबंधी विवादों का न्याय निर्णय

अनुच्छेद 263 – अंतर्राज्यीय विकास परिषद का गठन

अनुच्छेद 266 – संचित निधि

अनुच्छेद 267 – आकस्मिकता निधि

अनुच्छेद 269 – संघ द्वारा उद्ग्रहित और संग्रहित किंतु राज्यों को सौपे जाने वाले कर

अनुच्छेद 270 – संघ द्वारा इकट्ठे किए कर संघ और राज्यों के बीच वितरित किए जाने वाले कर

अनुच्छेद 280 – वित्त आयोग

अनुच्छेद 281 – वित्त आयोग की सिफारिशे

अनुच्छेद 292 – भारत सरकार द्वारा उधार लेना

अनुच्छेद 293 – राज्य द्वारा उधार लेना

अनुच्छेद 300 क – संपत्ति का अधिकार

अनुच्छेद 301 – व्यापार वाणिज्य और समागम की स्वतंत्रता

अनुच्छेद 309 – राज्य की सेवा करने वाले व्यक्तियों की भर्ती और सेवा की शर्तों

अनुच्छेद 310 – संघ या राज्य की सेवा करने वाले व्यक्तियों की पदावधि

अनुच्छेद 313 – संक्रमण कालीन उपबंध

अनुच्छेद 315 – संघ राज्य के लिए लोक सेवा आयोग

अनुच्छेद 316 – सदस्यों की नियुक्ति एवं पदावधि

अनुच्छेद 317 – लोक सेवा आयोग के किसी सदस्य को हटाया जाना या निलंबित किया जाना

अनुच्छेद 320 – लोकसेवा आयोग के कृत्य

अनुच्छेद 323 क – प्रशासनिक अधिकरण

अनुच्छेद 323 ख – अन्य विषयों के लिए अधिकरण

अनुच्छेद 324 – निर्वाचनो के अधिक्षण निर्देशन और नियंत्रण का निर्वाचन आयोग में निहित होना

अनुच्छेद 329 – निर्वाचन संबंधी मामलों में न्यायालय के हस्तक्षेप का वर्णन

अनुछेद 330 – लोक सभा में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिये स्थानो का आरणण

अनुच्छेद 331 – लोक सभा में आंग्ल भारतीय समुदाय का प्रतिनिधित्व

अनुच्छेद 332 – राज्य के विधान सभा में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजातियों के लिए स्थानों का आरक्षण

अनुच्छेद 333 – राज्य की विधानसभा में आंग्ल भारतीय समुदाय का प्रतिनिधित्व

अनुच्छेद 343 – संघ की परिभाषा

अनुच्छेद 344 – राजभाषा के संबंध में आयोग और संसद की समिति

अनुच्छेद 350 क – प्राथमिक स्तर पर मातृभाषा में शिक्षा की सुविधाएँ

अनुच्छेद 351 – हिंदी भाषा के विकास के लिए निर्देश

अनुच्छेद 352 – आपात की उदघोषणा का प्रभाव

अनुछेद 356 – राज्य में संवैधानिक तंत्र के विफल हो जाने की दशा में उपबंध

अनुच्छेद 360 – वित्तीय आपात के बारे में उपबंध

अनुच्छेद 368 – सविधान का संशोधन करने की संसद की शक्ति और उसकी प्रक्रिया

अनुच्छेद 377 – भारत के नियंत्रक महालेखा परीक्षक के बारे में उपबंध

अनुच्छेद 378 – लोक सेवा आयोग के बारे

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Date of birth of famous personalities – General Knowledge

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Famous personalities and their date of birth

हिन्दी में सामान्य ज्ञान (General Knowledge in Hindi) के तहत पेश है प्रसिद्ध व्यक्तियों की जन्म तारीखें (Date of birth of famous personalities)

प्रसिद्ध व्यक्तिजन्म तारीख
स्वामी विवेकानंद12-1-1863
लाला लजपतराय28-1-1865
सुभाष चंद्र बोंस23-1-1897
राकेश शर्मा13-1-1949
जनरल के.ऍम. करिअप्पा20-1-1900
चैतन्य महाप्रभु18-2-1486
रामकुष्ण परमहंस18-2-1836
मोहम्मद इकबाल22-2-1873
सरोजनी नायडु13-2-1879
मोरारजी देसाई29-2-1896
डॉ. राममनोहर लोहिया23-3-1910
गुरु नानक देवजी15-4-1469
गुरु अर्जुन देवजी14-4-1563
डॉ. भीमराव अंबेडकर14-4-1891
गुरु अमरदास5-5-1479
महाराणा प्रताप31-5-1539
मोतीलाल नेहरू6-5-1861
रवीन्द्रनाथ टेगोर7-5-1861
गोपालकृष्ण गोखले9-5-1866
महादेवी वर्मा24-5-1907
सत्यजित रे2-5-1921
बंकिमचंद्र चट्टोपाध्याय26-6-1838
लोकमान्य बालगंगाधर तिलक23-7-1856
मुंशी प्रेमचंद31-7-1880
जे.आर.डी. टाटा29-7-1904
मदर टेरेसा27-8-1910
ध्यानचंद29-8-1905
ईश्वरचंद्र विद्यासागर26-9-1820
दादाभाई नौरोजी4-9-1825
गोविंद वल्लभ पंत10-9-1887
डॉ. राधाकृष्णन5-9-1888
विनोबा भावे11-9-1895
भगतसिंह27-9-1907
ऍम.विश्वसरैया15-9-1861
शरतचंद्र चटोपाध्याय15-9-1876
डॉ. ऐनी बेसन्ट1-10-1847
मोहनदास करमचंद गांधी2-10-1869
स्वामी रामतीर्थ22-10-1873
सरदार वल्लभ भाई पटेल31-10-1875
आचार्य नरेन्द्र देव31-10-1889
जयप्रकाश नारायण11-10-1902
डॉ. होमी भाभा30-10-1909
पांडुरंग शास्त्रीजी आठवले पु. दादा19-10-1920
महाराणा रणजीत सिंह13-11-1780
वासुदेव बळवंत फडके4-11-1845
बिपिनचंद्र पाल7-11-1858
जगदीशचंद्र बसु30-11-1858
देशबंधु चितरंजनदास5-11-1870
मौलाना आज़ाद11-11-1888
जमनालाल बजाज4-11-1889
श्रीमती इंदिरा गांधी19-11-1917
सत्यसाई बाबा23-11-1926
शकुंतला देवी4-11-1939
सलीम अली12-11-1896
महाकवि सूरदास9-12-1484
मदनमोहन मालवीय25-12-1861
ठक्कर बापा27-12-1869
चक्रवर्ती राजगोपालचारी7-12-1879
डॉ. राजेन्द्रप्रसाद3-12-1884
कन्हैया लाल मुंशी30-12-1887
ओशो रजनीश11-12-1931
रामानुजम22-12-1887
Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail