Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

भारत के भौगोलिक भाग (Geography gk)

भारतीय होकर भी यदि हमें यह जानकारी न हो कि भारत को कितने भौगोलिक भागों (Geographical Divisions of India) में बाँटा गया है तो क्या यह हमारे भौगलिक सामान्य ज्ञान (Geography gk in Hindi) पर एक प्रश्नचिह्न नहीं होगा?

वर्तमान में भारत को निम्न मुख्य भागों में बँटा माना जाता है –

उत्तर के पर्वतीय प्रदेश – तराई के वनों से लेकर हिमालय के शिखर तक का क्षेत्र उत्तर के पर्वतीय प्रदेश के के अन्तर्गत् आता है जिसमें वर्तमान कश्मीर, शिवालिक, टिहरी, कांगड़ा, कुमायूँ, नेपाल, सिक्किम तथा भूटान स्थित हैं। यही पुराणों में उल्लिखित “पर्वतश्रयिण” क्षेत्र है। यह क्षेत्र लगभग 1500 मील लंबा तथा 160 से 200 मील चौड़ा है।

उत्तर का मैदान – यह सिंधु तथा गंगा नदियों द्वारा लाई गई मिट्टी से बना मैदानी क्षेत्र है। इसकी लंबाई लगभग 3200 किलो मीटर तथा औसत चौड़ाई 150 से 3000 किलोमीटर है। यह क्षेत्र अपनी उपजाऊ भूमि और अधिक पैदावार के कारण प्रसिद्ध है तथा इस मैदानी भाग की सिंचाई सिंधु एवं गंगा तथा उनकी सहायक नदियों द्वारा होती है। राजस्थान का मरुस्थलीय प्रदेश भी इसी के अन्तर्गत् आता है।

मध्य भारत का पठार – विन्ध्याचल तथा सतपुड़ा की पर्वतमालाएँ इस क्षेत्र के अन्तर्गत फैली हुई हैं जो भारत को उत्तरी और दक्षिणी भागों में विभक्त करती हैं। इस क्षेत्र की अधिकांश नदियाँ प्रायः शुष्क मौसम में सूख जाती हैं।

तटीय क्षेत्र – यह दक्षिण का लम्बा तथा सँकरा समुद्री मैदानी क्षेत्र है। इसके अन्तर्गत् कोंकण तथा मालाबार तट के बन्दरगाह स्थित हैं। इसी भाग में कृष्णा, कावेरी तथा गोदावरी के अत्यधिक उपजाऊ डेल्टा भी आते हैं।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail