Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

ब्रिटेन के तमाम संग्रहालयों में मौजूद बेशकीमती कलाकृतियों और जवाहरातों (Indain precious artifacts) को भारत वापस लाने के मुद्दे भारतीय मूल के ब्रितानी सांसद, कीथ वाज़ समेत कई समूह पिछले कई वर्षों से को उठाते रहे हैं और इन लोगों ने मोदी जी की यात्रा के दौरान इस मुद्दे को उठाए जाने का आग्रह भी किया है.

आइये जानें कि वे प्रमुख कलाकृतियाँ या रत्न कौन से हैं:

कोहिनूर हीरा (Kohinoor Diamond)

Kohinoor Diamond

आंध्र प्रदेश की एक खान से निकला कोहिनूर हीरा पूरे 720 कैरेट का हुआ करता था. अलाउद्दीन खिलजी के जनरल मालिक काफ़ूर ने इसे जीता था और ये वर्षों तक खिलजी वंश के ख़ज़ाने में रहा.

मुग़ल शासक बाबर के पास पहुँचने के बाद इसने मुग़लों के साथ कई सौ वर्ष बिताए. शाहजहाँ के मयूर सिंहासन पर अपनी चमक फैलाने के बाद कोहिनूर हीरा महाराज रंजीत सिंह तक के पास पहुंचा.

आख़िरकार एक तोहफ़े के तौर पर कोहिनूर ब्रिटेन की महारानी को सौंपा गया और तब से ये महारानी के ताज में जड़ा हुए हैं.

वो बात दूसरी है कि एक ज़माने में दुनिया के सबसे बड़े हीरों में शुमार कोहिनूर अब सिर्फ 105 कैरेट का ही रह गया है.

सुल्तानगंज बुद्ध (Sultanganj Buddha)

Sultanganj Buddha

सन् 1861 में सुल्तानगंज, जो कि बिहार के सुल्तानगंज जिले का एक शहर है, में रेलवे निर्माण हेतु खुदाई में लगभग 500 कि.ग्रा. वजनी बुद्ध की सम्पूर्ण प्रतिमा प्राप्त हुई थी जिसे कि रेलवे इंजीनियर ई.बी. हारिस (E.B Harris) के द्वारा तत्काल बर्मिंघम भेज दिया गया। पुरातत्ववेत्ताओं के अनुसार यह मूर्ति सन् 500 और सन 700 के दौरान की है। आज भी बुद्ध की यह प्रतिमा बर्मिंघम म्यूजियम एंड आर्ट गैलरी में रखी हुई है, जबकि कायदे से इसे भारत वापस लाना चाहिए।

टीपू की तलवार और अंगूठी (Tipu Sultan’s Sword & Ring)

Tipu Sultan's Sword

मैसूर के शेर – टीपू सुल्तान – के वीरगति प्राप्त करने के बाद ब्रिटिश सेना ने उनकी अँगूठी और तलवार को हथिया लिया। साथ ही उनके शस्त्रागार को भी लूट लिया।

टीपू सुल्तान की अँगूठी और तलवार के साथ ही उनके शस्त्रागार और खजाने की अनेक अमूल्य वस्तुओं को ब्रिटिश म्यूजियम में रखा गया था।

सन् 2010 में टीपू सुल्तान की तलवार को पांच लाख से अधिक पाउंड में नीलाम कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि वह तलवार दो सौ साल पुरानी पुरानी थी।

टीपू सुल्तान की अँगूठी में राम नाम अंकित है।

Tipu Sultan's Ring

महाराजा रणजीत सिंह का राज सिंहासन (Maharaja Ranjeet Sing’s Throne)

Ranjit Singh's Throne

महाराजा रणजीत सिंह का सोने से मढ़ा अमूल्य राज सिंहासन वी एंड ए म्यूजियम में रखा हुआ है।

इसी प्रकार से और भी अनेक अमूल्य भारतीय कलाकृतियाँ तथा रत्न ब्रिटेन के कब्जे में हैं।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail