रामधारी सिंह 'दिनकर'' (Ramadhari Singh Dinkar)प्रस्तुत है श्री रामधारी सिंह 'दिनकर' (Ramadhari Singh Dinkar) की सुप्रसिद्ध रचना लोहे के पेड़ हरे होंगे (Lohe Ke Ped Hare Honge) -लोहे के पेड़ हरे होंगे, तू गान प्रेम का गाता चल, नम होगी यह मिट्टी ज़रूर, आँसू के कण ...