Tag archives for harivanshrai bachchan

Us paar na jane kya hoga

उस पार न जाने क्या होगा! (Us paar na jane kya hoga)श्री हरिवंशराय बच्चन (Harivanshrai Bachchan) जी की रचनाइस पार, प्रिये मधु है तुम हो, उस पार न जाने क्या होगा!यह चाँद उदित होकर नभ में कुछ ताप मिटाता जीवन का, लहरालहरा यह शाखाएँ कुछ शोक ...

Jo Beet Gai So Baat Gai

हरिवंशराय बच्चन (Harivanshrai Bachchan) की अत्यन्त लोकप्रिय कविता - जो बीत गई सो बात गई (Jo Beet Gai So Baat Gai)जीवन में एक सितारा था माना वह बेहद प्यारा था वह डूब गया तो डूब गया अम्बर के आनन को देखो कितने इसके तारे टूटे कितने इसके प्यारे छूटे जो छूट ...