उर्दू शायरी (Shayari) की कोई मिसाल नहीं है। यह 'गागर में सागर' है।तो पेश है क़तील शिफाई की गज़ल (Ghazal) 'मैं तो मर कर भी मेरी जान तुझे चाहूँगा' (Main to mar kar bhi meri jaan tujhe chahunga)ज़िन्दगी में तो सभी प्यार किया करते हैं मैं ...